नक्सली हमले में जन्मदिन के दिन शहीद हुआ जवान

कांकेर : दंतेवाड़ा के चोलनार में नक्सलियों द्वारा सर्चिंग पर निकले छत्तीसगढ़ पुलिस के जवानों पर ब्लास्ट कर हमला करने से विकासखण्ड चारामा के ग्राम चिनौरी के माटी पुत्र सालिक राम सिन्हा शहीद हो गए। शहीद सालिकराम का 20 मई को जन्म दिन था। बावजूद वे छुट्टी लेकर जन्म दिन मनाने के बजाए नक्सलियों से मुकाबला करने अपने साथियों के साथ निकले थे।उनके परिवार व दोस्तों ने जन्मदिन की शुभकामनाएं सुबह ही दिए थे।

31 मई 2014 को सहायक आरक्षक के पद पर पदस्थ हुआ सालिक राम अपने पीछे पत्नी पर्वती सिन्हा और दो बच्चे बलराम सिन्हा व तामेश्वर सिन्हा को छा़ेड गए।

उनके शहीद होने की खबर लगते ही पुरे ग्राम चिनौरी सहित पूरे विकासखण्ड में शोक की लहर दौड़ गई। परिजनों, बच्चों को यह खबर लगते ही उनके चीखे शुरू हो गई। पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है। ग्रामीणों को सालिक राम के शव के आने का इंतजार हैं।

शहीद सालिकराम ने पांचवीं-आठवीं की शिक्षा ग्राम के स्कूल में तथा हाईस्कूल की पढ़ाई गीदम से की। शहीद के बड़े भाई रत्तीराम सिन्हा ने बताया कि भाइयों में वह सबसे छोटा था। चार-पांच वर्ष पूर्व ही सीएफ कम्पनी में भर्ती हुए थे, इसके पूर्व वे नगर सैनिक थे।

सीएफ में पहली पोस्टिंग किरंदुल में हुआ था। घटना की खबर देने चारामा थाना प्रभारी बृजेश कुशवाह घर पहुंचे थे। परिवार को संत्वना देते हुए उन्होंने बताया कि सोमवार को पूरे सम्मान के साथ उनका शव ग्राम चिनौरी लाया जाएगा, जहां उनका अंतिम संस्कार होगा। विदित हो कि तीन मई को ही नक्सलियों के ब्लॉस्ट में विकासखण्ड के ग्राम डोड़कावाही निवासी लेखराम बघेल शहीद हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *