आचार संहिता लगते ही अटक गई योजनाएं

छिंदवाड़ा : लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगते ही आगामी एक अप्रैल से प्रस्तावित वित्तीय वर्ष 2019-20 की सम्पत्ति मूल्य गाइड लाइन अटक गई है तो वहीं इंदिरा गृह ज्योति बिजली योजना के भी नए पंजीयन नहीं हो पाएंगे। इसके साथ ही गौशालाओं के प्रस्ताव को भी लोकसभा चुनाव समाप्ति का इंतजार करना होगा।

31 मई तक लागू रहेगी आचार संहिता : पुरानी गाइड लाइन
आचार संहिता का सबसे बड़ा साइड इफेक्ट नए वित्तीय वर्ष की संपत्ति मूल्य गाइड लाइन पर पड़ा है। इसकी तैयारियां की जा रही थी और जिला मूल्यांकन समिति की बैठक इसी सप्ताह होनेवाली थी। अब उसे जून माह तक टाल दिया गया है। जिला पंजीयक एसएस मेश्राम ने बताया कि आचार संहिता के चलते चालू वित्त वर्ष 2018-19 की सम्पत्ति गाइड लाइन 31 मई तक लागू रहेगी। उसके बाद ही नई गाइड लाइन का फैसला होगा। हालांकि शासन द्वारा स्टाम्प शुल्क छूट संबंधी आदेश एक अप्रैल से लागू हो जाएंगे।

इंदिरा गृह बिजली : नए पंजीयन पर रोक पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी में बीती 25 फरवरी से लागू इंदिरा गृह बिजली बिल योजना में इस समय 1.94 लाख उपभोक्ता सौ यूनिट पर सौ रुपए के बिल का लाभ उठा रहे हैं। आचार संहिता लगने के बाद पात्र उपभोक्ताओं के नए पंजीयन पर रोक लग जाएगी। इस योजना में जिले के तीन लाख से अधिक उपभोक्ताओं को लाभ दिया जाना है। फिलहाल कम्पनी द्वारा शिवराज सरकार के समय लागू सरल बिजली बिल योजना के हितग्राहियों को फायदा दिया गया है। शेष को लोकसभा चुनाव के बाद का इंतजार करना होगा।

गौशालाओं का शुरू नहीं हुआ निर्माण :
पशु चिकित्सा विभाग द्वारा जिले में 30 गौशालाओं का निर्माण का प्रस्ताव राज्य शासन को प्रेषित किया गया था। उसकी स्वीकृति की फाइल आचार संहिता लगने के बाद ठंडे बस्ते में चली गई है। सरकार के वचन पत्र के मुताबिक इस योजना में धीमी गति से काम हो पाया। जैसे-तैसे गौशालाएं स्वीकृति के करीब थी। अब इसके लिए दो माह का लम्बा इंतजार करना पड़ेगा। ये योजना समय पर लागू हो जाती तो आवारा पशुओं को ठौर-ठिकाना मिल जाता और तस्करी में पकड़े गए पशुओं के आश्रय की समस्या का समाधान भी हो जाता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *